What is Registers in hindi | कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है?

दोस्तों क्या आपको पता है what is Registers in Hindi in Computer (रजिस्टर क्या होता है?) आज के इस आर्टिकल में हम कंप्यूटर के रजिस्टर के बारे में बात करने वाले हैं और आपको Registers के बारे में बताने वाले हैं।

रजिस्टर कंप्यूटर का ही एक पार्ट होता है जिसके बारे में हम विस्तार से समझने वाले हैं रजिस्टर कंप्यूटर में पाई जाने वाली एक मेमोरी होती है जो कि सबसे तेज मेमोरी में से एक मानी जाती है। यदि आप रजिस्टर के बारे में पूरी जानकारी जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

कंप्यूटर में रजिस्टर क्या है? (Registers in Hindi in Computer)

रजिस्टर एक मेमोरी होती है जो कि कंप्यूटर का ही एक भाग होता है रजिस्टर मेमोरी सबसे तेज मेमोरी के रूप में से एक होती है। यह सीपीयू में उपयोग होने वाली मेमोरी है इसका प्रयोग सीपीयू द्वारा बहुत सारे ऑपरेशन करने के लिए किया जाता है।

Registers in Hindi in Computer
Registers in Hindi in Computer

रजिस्टर मेमोरी का मुख्य उपयोग डाटा को स्टोर करने और data instruction के लिए किया जाता है। चूंकि रजिस्टर मेमोरी का उपयोग कंप्यूटर में होने वाले ऑपरेशंस के लिए किया जाता है इसलिए जब भी कंप्यूटर सिस्टम को कोई भी कमांड दिया जाता है तो वह सभी कमांड रजिस्टर मेमोरी में स्टोर कर लिए जाते हैं और इसके बाद जब भी कंप्यूटर द्वारा प्रोसेसिंग पूरी हो जाती है तो उस आउटपुट को कंप्यूटर रजिस्टर मेमोरी में ही स्टोर कर देता है।

जिससे हमें यह पता चलता है कि रजिस्टर मेमोरी का उपयोग CPU द्वारा डेटा प्रोसेसिंग में किया जाता है। इसका कार्य यूजर द्वारा दिए गए किसी भी इनपुट को कंप्यूटर में प्रोसेस करवा कर यूजर को बहुत ही तेजी से आउटपुट देना होता है।

रजिस्टर कैसे कार्य करता है?

दोस्तों यदि हम बात करें रजिस्टर मेमोरी के कार्यों के बारे में की यह कंप्यूटर में कैसे कार्य करता है तो इसके कई सारे कार्य हैं जिनको हम स्टेप वाई स्टेप समझते हैं –

Data Fetch -: जब भी कोई यूजर कंप्यूटर में instructions देता है तो रजिस्टर मेमोरी के द्वारा उस डेटा को सबसे पहले Fetch किया जाता है तथा डाटा को Fetch करने के बाद उसको Main मेमोरी में सेव कर लिया जाता है तथा डाटा को प्रोसेसिंग के लिए भेज दिया जाता है।

Decode -: इस ऑपरेशन का प्रयोग करके यूजर द्वारा दिए गए डाटा को decode किया जाता है तथा उसे कंप्यूटर की भाषा में परिवर्तित करके प्रोसेस किया जाता है।

Execute -: इस ऑपरेशन को सीपीयू में एग्जीक्यूट किया जाता है अब पूरी प्रोसेसिंग होने के बाद डाटा को आउटपुट करके Main मेमोरी में सेव किया जाता है जिसके बाद डाटा यूजर के सामने डिस्प्ले होता है।

रजिस्टर कितने प्रकार होते है? (Types of Registers)

कंप्यूटर में कई प्रकार के रजिस्टर पाए जाते हैं जो कि आपको निम्नलिखित दिए गए हैं-

  • Memory address register (MAR)
  • Memory buffer register (MBR)
  • Instruction register (IR)
  • Data register
  • Accumulator
  • Program counter (PC)
  • Input output register

Memory address register (MAR)

इस रजिस्टर के द्वारा डाटा या इंस्ट्रक्शंस के एड्रेस को स्टोर करके रखा जाता है। एग्जीक्यूशन के दौरान मेमोरी से डाटा को उस Address से इस रजिस्टर के द्वारा Fatch कर लिया जाता है। इस रजिस्टर के द्वारा उस इंफॉर्मेशन के एड्रेस को स्टोर करके रखा जाता है जिस एड्रेस से डाटा का इनपुट किया गया हो अर्थात जहां से डाटा आ रहा है।

Memory buffer register (MBR)

यह कंप्यूटर के प्रोसेसिंग यूनिट का ही एक पार्ट होता है इसको हम (MDR) memory data register भी कहते हैं। यह रजिस्टर में मेमोरी से जाने वाले डाटा तथा आने वाले सभी डाटा को स्टोर करके रखता है। यह रजिस्टर MAR के द्वारा निर्धारित किए गए डाटा की मेमोरी लोकेशन की एक कॉपी अपने पास रखता है जिसको डेटा Read अथवा Write करते समय उपयोग किया जाता है।

Instruction register (IR)

प्रोसेसिंग के दौरान दिए गए इंस्ट्रक्शंस में से रजिस्टर सिर्फ एक ही Instruction को एग्जीक्यूट करता है। यह रजिस्टर मेमोरी एग्जीक्यूट किए जा रहे निर्देश को स्टोर करके रखता है तथा इंस्ट्रक्शन को कंट्रोल यूनिट में स्टोर करके रखा जाता है।

Data register

Data register का प्रयोग कंप्यूटर में आने वाले टेम्परेरी डाटा को मेमोरी में स्टोर करने के लिए प्रयोग किया जाता है इसका प्रयोग बहुत सारे माइक्रो कंप्यूटर्स में किया जाता है।

Accumulator

जब भी कोई यूज़र कंप्यूटर को निर्देश देता है तब प्रोसेसिंग के बाद जो डेटा निकल कर आता है उस डेटा को Accumulator के द्वारा स्टोर कर लिया जाता है जिसके बाद या डाटा यूजर को डिस्प्ले किया जाता है।

Program counter (PC)

Program counter सबसे पहला Instruction Pointer होता है कई स्थितियों में इसको Instruction address register या प्रोसेसर रजिस्टर भी कहा जाता है। यह एक प्रकार का हार्डवेयर मेमोरी डिवाइस होता है जो कि एग्जीक्यूशन के दौरान Instruction की मौजूदा लोकेशन को बताने का कार्य करता है।

Index register

Index रजिस्टर एक तरह का एक सर्किट होता है जोकि कंप्यूटर में कोड की चेंजिंग होते समय निर्देश प्राप्त करता है तथा उन निर्देशों को मेमोरी में स्टोर करके रखता है जिसके बाद इन निर्देशों का आउटपुट करता है। इंडेक्स रजिस्टर को संसाधनों का एड्रेस रजिस्टर भी कहते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने आपको रजिस्टर क्या होता है? What is Registers in Computer in Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी तथा रजिस्टर से संबंधित आपके सभी प्रकार के सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे यदि आपका कोई सवाल इसमें बताया नहीं किया गया तो आप हमसे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। यदि आपको इंग्लिश पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

ये भी पढ़े –

FAQ

रजिस्टर क्या है हिंदी में?

रजिस्टर कंप्यूटर के सीपीयू में उपयोग होने वाली एक मेमोरी होती है यह कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी होती है, प्रोसेसिंग के समय कंप्यूटर को मिलने वाले इनपुट तथा आउटपुट के दौरान पूरा डेटा रजिस्टर मेमोरी में ही स्टोर किया जाता है।

रजिस्टर कितने प्रकार के होते हैं?

रजिस्टर के प्रकार निम्नलिखित दिए गए हैं-
1. Memory address register (MAR)
2. Memory buffer register (MBR)
3. Instruction register (IR)
4. Data register
5. Accumulator
6. Program counter (PC)
7. Input output register
8. Memory address register (MAR)

कंप्यूटर में सबसे तेज मेमोरी कौन सी है?

यदि हम बात करें कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी की तो कंप्यूटर की सबसे तेज मेमोरी कैश मेमोरी होती है।

Sharing Is Caring:

Leave a comment