Generation Of Computer In Hindi। Best Explanation Of 5 Generations

Contents show

Generation Of Computer In hindi (कंप्यूटर की पीढ़ियाँ)

दोस्तों हमारे दैनिक जीबन में आज कंप्यूटर का महत्व हम भली भांती जानते है जो की हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है हमारे जीवन में कंप्यूटर का उपयोग काफी बढ़ता जा रहा है, कंप्यूटर ने हमारे जीवन को काफी आसान बना दिया है। आज हम बात करने बाले हैं Generation Of Computer In Hindi के बारे मे जो कि काफी helpfull जानकारी होगी और आपको समझने में काफी आसानी होगी ।


हमारे जीवन में इतनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने बाले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर की सुरुआत 1944 ई. में हुई थी जो की अब तक अपग्रेड किया जा रहा है और प्रत्येक बड़े अपग्रेड को हम generation ( पीढ़ियों ) में वॉट दिया गया जिसे हम generation of Computer ( कंप्यूटर की पीढ़ियां ) कहते हैं। इन्ही के बारे में हम अब समझने वाले है की कंप्यूटर का विकास कैसे हुआ और कंप्यूटर की किस पीढ़ी में किस तरह के कंप्यूटर को बिकसित किया गया था।


आज कंप्यूटर ने हमारे जीवन में इस तरह से जगह ले ली है की जो काम हम पुराने समय में समय बर्बाद करके बाहर जाकर करते थे उन सब काम को अब हम कंप्यूटर की सहायता से घर बैठे कर सकते हैं फिर बो चाहे online Shopping करनी हो, कोई भी Tikit Booking करनी हो, Office work करना हो, online classes लेनी हो, coding सीखनी हो, बिल पेमेंट करना हो ऐसे बहुत सारे काम है जो आप घर बैठे कर सकते है। आप भी जानना चाहते हैं कि Affiliate marketing से online पैसे कैसे कमा सकते हैं तो हमारे वेबसाइट की online Earning कैटेगरी पर दी गई लिंक पर क्लिक करें।

Generation of Computer – ( कंप्यूटर की पीढ़िया )

Generation Of Computer In Hindi

1. First generation of Computer in hindi ( कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी )


कंप्यूटर की पहली पीढ़ी का समय सन 194-1955 तक माना जाता है इस सन में दो बड़े और महान बैज्ञानिक जॉन विलियम मौचली और जे प्रेसपर एकर्ट के द्वारा दुनिया का प्रथम और सबसे बडा कंप्यूटर का अविष्कार किया गया था जो की एक Fully Electronic Digital Computer था इसका नाम ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) था। यही से generation of Computer (कंप्यूटर की पीढ़ियों ) की सुरुआत हुई थी।


ENIAC का भार लगभग 30 तन था, ENIAC की लम्बाई लगभग 30 से 50 फिट की थी, इसमें 70000 रजिस्टर, 18000 वैक्यूम ट्यूब और 150000 वाट light की जरूरत थी। इसका प्रयोग अंतरिक्ष मि समस्याओं को हल करने में, मौसम का अनुमान लगाने में और भी अन्य कार्यो के लिये किया जाता रहा था परन्तु ENIAC की स्पीड कम होने के कारण जल्दी ही इसका उपयोग समाप्त कर दिया गया था।


प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर में मेमोरी क्षमता के लिए Vacuum Tube का उपयोग किया जाता था। जिसके फलस्वरूप इनमे मेमोरी बहुत कम होती थी, अधिक गर्मी उत्पन्न करते थे इसे मैनेज करने के लिए AC का प्रयोग किया जाता था। बिजली की अधिक खपत करते थे, ये आकर में काफी बड़े व भारी होते थे, इनमे मशीनी भाषा का प्रयोग किया जाता था तथा इनमें इनपुट और आउटपुट के लिए चुम्बकीये टेप और पंचकार्ड का उपयोग किया जाता था। प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर अधिक महंगे भी होते थे।

प्रथम पीढ़ी के कम्प्यूटरो के नाम -( Name of First generation Computer )


◆ENIAC
◆EDVAC
◆EDSAC
◆UNIVAC
◆MARK-1

2. Second generation of Computer in hindi – ( कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी )


अब हम बात करें generation of computer in hindi की दूसरी पीढ़ी का समय सन 1956-1965 तक माना जाता है। इस पीढ़ी के कंप्यूटर में मेमोरी के लिये Vacuum tube के स्थान पर transistor का उपयोग किया जाने लगा था, Transistor का विकास 1947 में Willom Shockly के द्वारा किया गया था।


इस पीढ़ी में मेमोरी को दो भागों में बाट दिया गया प्राइमरी मेमोरी और सेकेंडरी मेमोरी, प्राइमरी मेमोरी में चुम्बकीये कोर और सेकंडरी मेमोरी में चुम्बकीये डिस्क का प्रयोग किया जाने लगा। कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी में दो ऑपरेटिंग सिस्टम Batch processing और Multi programming का उपयोग किया जाने लगा था। ये कंप्यूटर अधिक विश्वसनीय थे पहली पीढ़ी के कंप्यूटर की अपेक्षा में। ये कम गर्मी उत्पन्न करते थे, पहली पीढ़ी के कंप्यूटर से आकार में छोटे थे, कम विजली खपत करते थे परन्तु इनमे भी AC की आवश्यकता होती थी।

दूसरी पीढ़ी के कम्प्यूटरो के नाम -( Name of Second generation of Computer )

◆ IBM 1620
◆ IBM 7094
◆ CDC 1604
◆ CDC 3600
◆ UNIVAC 1108

3. Third Generation of Computer in hindi-(कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी)


कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी का समय सन 1966-1975 तक माना जाता है। कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी में Transistor के उपयोग को बंद कर दिया गया था और Transistor की जगह पर IC मतलब Integrated Circuit चिप का इस्तेमाल करना सुरु कर दिया गया था।

IC का उपयोग करने से कंप्यूटर की तेजी और क्षमता में काफी अच्छी बढ़ोतरी देखने को मिली। Integrated Circuit की खोज Jack Kilby के द्वारा की गई थी। तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटरौ में टाइम शेयरिंग, रिमोट प्रोसेसिंग और मल्टी प्रोग्रामिंग ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग किया गया।


तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर पहली और दूसरी पीढ़ी से अधिक विश्वसनीय थे, ऊर्जा की खपत कम करते थे, ये आकार में छोटे और प्रोसेसिंग में तेज थे, गर्म होने के कारण इनमे भी AC की आवश्यक्ता होती थी इन कंप्यूटर में कीबोर्ड और माउस भी उपयोग होने लगे थे। इन कंप्यूटरौ में हाई लेबल लैंग्वेज जैसे- COBOL, FORTRAN-I to IV,  BASIC, ALGOL, PASCAL का उपयोग होने लगा था।

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर के नाम- ( Name of Third generation Computer )

◆ IBM-360 Series
◆ Honeywell – 6000 series
◆ PDP (Personal Data Processor)
◆ IBM-370/168
◆ TDC-316

4. Fourth generation of Computer in hindi – ( कंप्यूटर की  चौथी पीढ़ी )


सन 1976-1982 तक की चौथी पीढ़ी की समय सीमा मानी जाती है, चौथी पीढ़ी के कंप्यूटरो में VLSI (Very Large Scale Integrated) सर्किट का प्रयोग किया जाने लगा था। VLSI सर्किट के एक सिलिकॉन चिप पर लगभग 5000 ट्रांज़िस्टर लगे होने थे। जिसको हम माइक्रो प्रोसेसर के नाम से भी जानते हैं।


प्रथम Micro Processor Intel द्वारा 1971 में पहली बार पेश किया गया था। Micro Processor का अविष्कार एम.इ. हाफ.जूनियर ने किया था और इसको इंटेल 4004 नाम दिया था।


IBM कम्पनी के द्वारा 1981 में माइक्रो कंप्यूटर का निर्माण किया गया है जिनको PC ( personal Computer ) के नाम से आज भी हम जानते हैं। माइक्रो कंप्यूटरौ को जीवन के हर क्षेत्र में बहुत तेजी से प्रयोग में लाया जाने लगा। क्योकि ये कंप्यूटर अन्य पीढ़ी के कंप्यूटरौ से अधिक तेज और विश्वसनीय थे। Computer की चौथी पीढ़ी में GUI , इंटरनेट और और ऑपरेटिंग सिस्टम ( जैसे- MS डॉस, विंडो, एप्पल os का विकास किया गया था।

Generation Of Computer In Hindi


इनमे VLS इंटीग्रेटेड सर्किट का उपयोग किया गया, ये कम खर्चे में अधिक तेजी से काम करते थे, ये कंप्यूटर आकार में छोटे और कम बजनी होते थे इनमे AC की आवश्यकता नही होती है छोटे आकार के कारण इनको उठाने रखने में आसानी होती है, ये कंप्यूटर चलाने में काफी सरल होते हैं, इन कंप्यूटरौ में High level language जैसे– C, C++, DBASE का प्रयोग किया जाता है।

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर के नाम – ( Name of Fourth generation Computer )

◆ Dec 10
◆ Star 1000
◆ PDP 11
◆ CRAY-1
◆ CRAY-X-MP (Super Computer)
◆ PCs

5. Fifth Generation of computer in hindi – ( कंप्यूटर की पांचवी पीढ़ी )


दोस्तों generation of Computer in hindi की लिस्ट में पॉचवी पीढ़ी की बात करे तो पॉचवी पीढ़ी के समय को सन 1982 से लेकर बर्तमान समय तक माना जाता है पॉचवी पीढ़ी में बर्तमान समय के कंप्यूटरौ और भविष्य में आने बाले कंप्यूटरौ को रखा गया है। इस पीढ़ी के Computer तेज, अधिक शक्तिशाली, high टेक्नोलॉजी और अधिक मेमोरी क्षमता के होते है।

इस पीढ़ी के कंप्यूटर में Artificial Intelligence का विकास हुआ, इस पीढ़ी के कंप्यूटरौ में ULSI टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया है, इसमे आपको Desktop PC और Portable PC का उपयोग किया जाने लगा है, इसी generation में ईमेल, इंटरनेट और www ( World Wide Web) का विकास हुआ।

मल्टीमीडिया फ़ीचर्स का निर्माण हुआ जैसे- ग्राफिक्स, ध्वनि, टेक्स्ट और चित्र इत्यादि का निर्माण हुआ। इस पीढ़ी मे C,C++, .Net, java और ASP जैसी कई सारी high level language का प्रयोग किया गया है। इस पीढ़ी के कंप्यूटर अधिक तेज, सस्ते और अधिक विश्वसनीय होते हैं।

जो की Artificial Intelligence पर आधारित है इस पीढ़ी के Computer में प्रोसेसर का निर्माण करने के लिये superconductor का प्रयोग किया जाता है जो कि विजली की कम खपत करते हैं जिससे उर्जा की बचत होती है।

इस generation के कंप्यूटर शक्तिशाली, तेज और आकर में छोटे होते हैं। इस पीढ़ी के Computer में Intel Celeron और Intel Pentium के प्रोसेसर का प्रयोग किया जाता है, परन्तु अब यह प्रोसेसर Dual core, triple core और Quad core के नाम से बनाये जाते हैं।


इस पीढ़ी की अच्छी टेक्नोलॉजी से कई भाषाएँ जैसे – इंग्लिश, फ्रेंच, स्पेनिश, चीनी कई कठिन भाषाओं को प्रोसेस किया जाता है और इस टेक्नोलॉजी से आप भी Computer की भाषाओं को समझ सकते हैं इस पीढ़ी के कंप्यूटरौ में Voice recognition टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया गया जो की छात्रों के लिये काफी ज्यादा उपयोगी है। इस टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके हम किसी भी फिजिकल डिवाइस को टच किये बिना कमांड दे सकते है और अपना काम कर सकते हैं। क्या आप जानना चाहते हैं कि 5G टेक्नोलॉजी कैसे विकसित हुई और यह कैसे काम करती है।

इस पीढ़ी के कंप्यूटरौ में नैनो टेक्नोलॉजी और मल्टीपल वेक्टर टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया है। इसमे मल्टीपल प्रोसेसर का प्रयोग किया गया है, इसमे Quantum computing bits का विकास हुआ इसके साथ ही इसमे UlSI तकनीक का उपयोग किया गया है। यह कंप्यूटर आकार में छोटे, कम भजन और गति में तेज होते हैं।

पॉचवी पीढ़ी के कंप्यूटर के नाम – ( Name of Fifth generation Computer)

◆ Desktop
◆ Laptop
◆ Notebook
◆ Ultra book
◆ Chrome book

◆ Optical computers
◆ Hologram Computer
◆ Parallel Vector computer

Type of Computers ( कंप्यूटर के प्रकार )

Generation Of Computer In Hindi

दोस्तों अभी तक हमने जाना है generation of computer in hindi भाषा के साथ इसके बारे में और अब हम आगे जानेगे Type of Computers ( कंप्यूटर के प्रकार ) के बारे में , इस पोस्ट में हम कंप्यूटर के प्रकार को कंप्यूटर की साइज और कंप्यूटर की क्षमता के हिसाब से संक्षिप्त रूप से जानेंगे।

  1. Analog Computer ( एनालाॅग कम्प्यूटर
  2. Digital Computer ( डिजिटल कम्प्यूटर )
  3. Hybrid Computer ( हाइब्रिड कम्प्यूटर )
  4. Mainframe Computer ( मेनफ्रेम कम्प्यूटर )
  5. Mini Computer ( मिनी कम्प्यूटर )
  6. Super Computer ( सुपर कम्प्यूटर )
  7. Indian Super Computer ( भारत में सुपर कम्प्यूटर )

दोस्तों आज हमने इस पोस्ट में generation of computer in hindi कंप्यूटर की पीढ़ियाँ के बारे में काफी विस्तार से जाना है जिसमे हमने 1st generation से 6th generation तक जाना है उसके बाद type of computer कंप्यूटर के प्रकार के बारे में संक्षिप्त में जाना है।

दोस्तों अगर ये पोस्ट आपको हेल्पफुल लगी हो तो इसे अपने दोस्तों को शेयर जरूर करें और यदि इसमे कोई गलती हो या आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप हमें कॉमेंट बॉक्स में बता सकते हैं तथा इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

FAQ

कंप्यूटर की कितनी पीढ़ी होती हैं?

कंप्यूटर की अभी तक पांच पीडिया विकसित हो चुकी है जो की 1942 ईस्वी से अब तक चली आ रही है इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर की सुरुआत 1944 ई. में हुई थी जो की अब तक अपग्रेड किया जा रहा है ।

जनरेशन ऑफ कंप्यूटर क्या है in Hindi?

हमारे जीवन में इतनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने बाले इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर की सुरुआत 1944 ई. में हुई थी जो की अब तक अपग्रेड किया जा रहा है और प्रत्येक बड़े अपग्रेड को हम generation ( पीढ़ियों ) में वॉट दिया गया जिसे हम generation of Computer ( कंप्यूटर की पीढ़ियां ) कहते हैं।

प्रथम पीढ़ी में किसका आविष्कार हुआ?

कंप्यूटर की पहली पीढ़ी का समय सन 194-1955 तक माना जाता है इस सन में एक Fully Electronic Digital Computer था इसका नाम ENIAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) था। यही से generation of Computer (कंप्यूटर की पीढ़ियों ) की सुरुआत हुई थी।

पंचम पीढ़ी में प्रयुक्त होने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम कौन कौन से हैं?

◆ Desktop
◆ Laptop
◆ Notebook
◆ Ultra book
◆ Chrome book
◆ Optical computers
◆ Hologram Computer
◆ Parallel Vector computer

Sharing Is Caring:

Leave a comment